मंज़िलें मुश्किल थी…

मंज़िलें मुश्किल थी पर हम खोए नही,
दर्द था दिल मे पर हम रोए नही,
कोई नही आज हमारा आज जो पूछे हमसे,
जाग रहे हो किसी के लिए,
या किसी के लिए सोए नही…

Leave a Reply