Shayari Dil Se By A Broken Heart Shayar

उनको ये शिकायत है कि मैं बेवफाई पे नहीं लिखता,
और मैं सोचता हूं कि मैं उनकी रुसवाई पे नहीं लिखता..

ख़ुद अपने से ज्यादा बुरा जमाने में कौन है?
मैं इसलिए औरों की बुराई पे नहीं लिखता..

कुछ तो आदत से मजबूर हैं और कुछ फितरतों की पसंद है
जख्म कितने भी गहरे हों, मैं उनकी दुहाई पे नहीं लिखता…..!!

 

Dedicated Lines to A P J Abdul Kalam

These lines dedicated to our Missile Man.. “The A.P.J. Abdul Kalam”

apj-kalam-shayari-sms-rip

न हिन्दु दिखता था न मुसलमान दिखता था।
उसे तो बस इन्सानो मे इन्सान दिखता था।
हो ग्ई आज खामोश वो आवाज सदा के लिए ।
जिसकी बातो मे केवल हिन्दुस्तान दिखता था।

 

– R.I.P

 

Sad True Sms on Khuda Ki Bandagi

किस से सीखू मैं खुदा की बंदगी,

सब लोग खुदा के बँटवारे किए बैठे है,

जो लोग कहते है खुदा कण कण में है,

वही मंदिर, मस्जिद, गुरूद्वारे लिए बैठे हैं