Gulzar Shayari | Gulzar Shayari Images Quotes Images 2021 2021

"
"

Gulzar Shayari: दोस्तों Gulzar साहब को आखिरकार कौन नहीं जानता अगर आप एक भारतीय नागरिक हैं, तो आपको शायद पता ही होगा Gulzar साहब एक लेखक है हमारे प्यारे लेखक जिसका Gulzar Shayari कविता पढ़कर मन शांति से बढ़ जाता है आज हम Gulzar Shayari आप लोगों के सामने लेकर आए हैं, जिसको पढ़ कर आपके मन और शांतिपूर्ण लगने लगेगा साथ में Gulzar साहब की काम के बारे में और Gulzar साहब कौन है, कहां से आया है, सारा जानकारी यही Article में हमने देने की कोशिश करा है तो अगर आपको Gulzar साहब की Shayari पसंद है, या फिर गुर्जर साहब को जाना है तो यह Article को जरुर पढ़े |

"
"

Gulzar साहब कौन है?

सम्पूर्णान सिंह कालरा (जन्म 18 अगस्त 1934) को पेशेवर रूप से Gulzar या Gulzar साब के नाम से जाना जाता है, एक भारतीय गीतकार, कवि, लेखक, पटकथा लेखक और फिल्म निर्देशक हैं। उन्होंने संगीत निर्देशक एस.डी. बर्मन ने 1963 की फ़िल्म बंदिनी में गीतकार के रूप में काम किया और कई संगीत निर्देशकों के साथ काम करते हुए Gulzar ने कविता, संवाद और पटकथाएँ भी लिखीं। उन्होंने 1970 के दशक के दौरान औंधी और मौसम और 1980 के दशक में टीवी श्रृंखला मिर्जा गालिब जैसी फिल्मों का निर्देशन किया। उन्होंने 1993 में कीदार का निर्देशन भी किया था |

Gulzar Shayari | Gulzar Shayari in hindi Quotes, Images, Gulzar Shayari

दोस्त कौन कहता है यह दिल तो नहीं होते, अरे एक पति की दहलीज पर बैठी जाकर किसी बाप बेटी से पूछो

Gulzar shayari
Gulzar shayari

 

मेरे दोस्त आप को कह रहा है यह दुनिया किसी से रोज मिलने से प्यार हो ना हो,
हकीकत तो यह है किसी से रोज बात करने से उसका आदत जरूर लग जाता है ..

ए दिल समझ जा मेरे यार ऐसा नहीं कि दिन नहीं ढलता और रात नहीं होती, कुछ पल के लिए सब अधूरा अधूरा सा लगने लगता है,
आखिरकार तुम से बात भी तो नहीं होती

तुम दूरियों का बात करते हो दूरियों का कोई गम नहीं, अगर फासले दिल में ना हो, पास आना या नजदीकी या सब बेकार अगर जगह दिल में ना हो..

आप इश्क की बात कर रहे हो जरूरी नहीं हर एक चाहत ही इश्क हो,
कुछ कुछ ऐसे रिश्ते भी है जो अनजाना होकर भी यह अंजाना अंजाना रिश्ते को लेकर दिल बेचैन

Gulzar Quotes Images
Gulzar Quotes Images 

ALSO READ – Motivational Shayari| Motivational Shayari in Hindi

"
"

कसूर हम किस किसको दे शिकवा हम किस किस से करें, नींद से हमें कोई शिकवा नहीं जो आती है रात भर, कसूर तो वह सपनों का है जो रात भर सोने नहीं देते

बहुत डरता था कुछ गलत आदत ना लग जाए पर तेरी आदत सी हो गई थी हमें,
नहीं तो कुछ मालूम हमें भी था कि तू हमारे नसीब से नहीं है

हवाओं में कुछ लिख दूं तेरे बारे में, हमें पता है आप ढूंढते हैं हमें हवाओं में और फिजाओं में..

"
"

माना कि तेरे यह नजरों में कुछ नहीं हूं मैं,, जाके थोड़ा उनसे भी तो पूछो हमारे कदर जिन जिन को पलट कर कभी हमने कभी नहीं देखा सिर्फ तुम्हारे लिए

Best Hindi Shayari –  Gulzar Shayari

आपको हम अपने इस दिल में उत्तर लेने का जी चाहता है, खूबसूरत से खूबसूरत फूलों में डूब जाने का इच्छा होता है, यह आपका हाथ पकड़ कर भूल गए सब मैं खाने हम, क्योंकि दोस्त मेरे मैं खानों में भी उसका ही चेहरा नजर आता है

 

आप मुस्कुराए तो जैसे फूल खिल जाए, आप ऐसे बात करो कि दिल मचल जाए, इतनी दिलकश है आपकी दोस्ती में, दुश्मन भी आपको देख कर फिदा हो जाए

 

मांगी है आपके लिए दुआ रब से, के देना मुझे दोस्त जो अलग दिखे सबसे, के देना मुझे दोस्त जो अलग हो सबसे, खुदा ने कहा लोग कुबूल किया अब संभालो इन्हें यह अनमोल है सबसे

 

वह मुलाकात जैसे कुछ अधूरी सी लगी, वह पास होकर भी जैसे दूरी सी लगी, उसके होठों पर हंसी और आंखों में पानी सी लगी, जिंदगी में शायद पहली बार ऐसी लगी कि दोस्ती बहुत जरूरी लगी

 

यह लम्हे सुहानी कभी साथ हो ना हो, कल और आज जैसे कुछ बात हो ना हो, आपकी दोस्ती हमेशा यह दिल पर रहेगी, चाहे आपसे कभी मुलाकात हो ना हो

 

Piyare Bahar Piyar Gulzar Shayari Dosti 

दोस्ती नजरों से हो तो उसे कुदरत कहना ता है, वही दोस्ती सितारों से हो तो जन्नत कहलाता है, दोस्ती आंखों से हो तो मोहब्बत कहते हैं, दोस्त मेरे दोस्ती आपसे हो तो किस्मत कहते हैं

 

अपनों से कोई कभी खफा नहीं हो सकते, यह रिश्ते दोस्ती मैं बेवफा कभी हो नहीं सकते, आप बोलकर भले ही सो जाओ, हम आपको गुड Good night बिना बोले सो नहीं सकते

 

यह दिल्लगी अपने दोस्तों के नाम होती है, और हमें पता है हमारी दिलदारी दोस्तों के साथ होती है, रहोगे दिल में जो मेरे हमेशा तुम, हमेशा यही सच्ची दोस्ती का पहचान होती है

अपनी दोस्ती अच्छी हो तो फूल की तरह रंग लाती है,
दोस्ती अगर समुंदर की तरह गहरी हो तो सबको बाकी है, दोस्ती नादान हो तो टूट जाती है, कोई कर ले हमसे दोस्ती तो इतिहास बन जाती है

 

हर एक एक गम को खुशी में बदल देती है यह दोस्ती, आंसुओं को हंसी में बदल देती है यह दोस्ती, बहुत लोग समझ नहीं पाते के अंधेरी रात में जलता हुआ दिया है एक सच्ची दोस्ती

 

कभी उदास ना होना क्योंकि कोई साथ हो ना हो मैं साथ हूं, हां सामने नहीं पर समझ लेना आस-पास हूं, दिखाई ना दे तो आंखों को बंद करके दिल से याद करना, मैं दोस्ती का एक हसीन एहसास हो

Finishing line

"
"

"
"

तो दोस्तों आपको Shayari कैसी लगी यह हमें Comment Box  में बोलना मत बोलिएगा साथ में आपको अगर एक भी Gulzar Shayari आपको अगर अच्छा लगता है तो अपने दोस्तों से Share करना भी ना बोलिए गा, दोस्तों जैसे कि हमने आपको शुरुआत में ही बोल दिए हैं कि गुलजार साहब की शायरी बहुत ही शानदार शायरी है और हम एक भारतीय नागरिक होने पर गर्व करते हैं कि हमें ऐसा एक शायर मिला जो आज तक हमारे दिलों में जिंदा है हमारे गुलजार साहब बनकर हमारी वेबसाइट में विजिट करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद | #gulzar shayari

"
"

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *